प्रशासन गांव के संग: एसडीएम कटारा के उपजिला प्रमुख डागर ने बांधी पगड़ी

सिटी डेस्क।
जयपुर के राजावास गांव में सोमवार को प्रशासन गांव के संग शिविर में अजीब नजारा बन गया। कार्यक्रम में सम्मान के तौर पर सभी अतिथियों को साफा बंधवाया जा रहा था। पगड़ी बांधने की बारी आई तो एसडीएम (साउथ) लक्ष्मीकांत कटारा इंकार करने लगे। इस पर वहां मौजूद कांग्रेस के नेता व उप जिला प्रमुख मोहन डागर ने पगड़ी पकड़ी और कटारा के सिर पर साफा बांधने लगे। इस दौरान रामपुरा डाबड़ी की उप तहसीलदार सृष्टि जैन भी मौजूद थी। यह माहौल देख जालसु पंचायत समिति के प्रधान हरसहाय यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधी ठहाके मार कर हंसने लगे। शिविर में चर्चा थी कि एसडीएम कटारा को उपजिला प्रमुख मोहन डागर ने ही लगवाया है और दोनों में अच्छी बनती है। एसडीएम कटारा पहले आमेर एसडीएम भी रह चुके है और अब रामपुरा डाबडी व हरमाड़ा इलाके की जमीनों के विवादों के मुकदमें एसडीएम (साउथ) कटारा के कोर्ट में ही लगते है। एसडीएम कटारा तहसीलदार के तौर पर जमवारामगढ़, बस्सी सहित अन्य कई तहसीलों में काम कर चुके है तथा यहां लगने से पहले सवाई माधोपुर व आमेर में तहसीलदार रह चुके है। डागर कांग्रेस और यादव भाजपा से नेता है।

अफसरों की मौजूदगी में कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ी :
प्रशासन गांव के संग शिविर में एसडीएम (साउथ) लक्ष्मीकांत कटारा और उप तहसीलदार सृष्टि जैन सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी व नेता मौजूद थे। अधिकारियों ने कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाने में कोई रुचि नहीं दिखाई। एसडीएम व तहसीलदार सहित अन्य अधिकारियों ने भी मास्क नहीं लगा रखा था। उप जिला प्रमुख मोहन डागर व प्रधान हरसहाय यादव ने मास्क लगाने के लिए लोगों से कई बार अपील भी की, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ती रही।

(Visited 111 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.