PHED के चीफ इंजीनियर के रवैया से कर्मचारी आक्रोशित, चौराहे पर दिया धरना-प्रदर्शन

जयपुर नाउ।
जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग (PHED) में कर्मचारियों की नई भर्ती, वर्कचार्ज से नियमित हुए कर्मचारियों का सविलीकरण, वेतन विसंगति, मंत्रालयिक कर्मचारियों के पदों सृजन, जनता जलयोजनाओं के कर्मचारियों को विभाग मे समायोजित करने सहित 19 मांगों को लेकर समन्वय समिति ने जलभवन पर धरना दिया।
चीफ इंजीनियर (प्रशासन) राकेश लुहाडिय़ा ने वार्ता के लिए नहीं बुलाया तो कर्मचारियों ने आक्रोशित होकर जल भवन चौराहे पर धरना दे दिया। सूचना मिले के बाद विभाग के एसीएस सुधांश पंत ने कर्मचारियों कोसे बात की और चीफ इंजीनियर को वार्ता कर समस्याओं का शीघ्र समाधान करने के निर्देश दिए।
आंदोलन के दौरान एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह राठौड़, समन्वय समिति के संयोजक कुलदीप यादव, महासचिव राजेश पारीक, सहसंयोजक संजय सिंह शेखावत, प्रहलाद राय अग्रवाल, उपसंयोजक सुग्रीव गुर्जर, प्रवक्ता बाबूलाल शर्मा, महेन्द्र सिंह शेखावत, मोहनलाल शर्मा, रामाशंकर गुर्जर, कन्हैयालाल शर्मा, घासीराम जाट, अजीत सिंह शेखावत, विजय सिंह सहित अन्य कर्मचारी नेता उपस्थित थे।

जल भवन में पांच घंटे से भी ज्यादा समय तक धरना व प्रदर्शन के बाद भी चीफ इंजीनियर ने कर्मचारियों की सुनवाई नहीं की। इससे आक्रोशित कर्मचारियों ने जलदाय मंत्री महेश जोशी के सिविल लाइन स्थित आवास की तरफ पलायन शुरु कर दिया। इससे कर्मचारियों व पुलिस के बीच भी झड़प हुई। कर्मचारी तपती धूम में चौराहे पर ही बैठ गए। कर्मचारियों ने अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की और जिम्मेदार अधिकारियों को बर्खास्त करने की मांग की।

(Visited 154 times, 2 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.